डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल,

          स्नात्तकोत्तर चिकित्सा शिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान

          (पूर्व में विलिंग्डन अस्पताल) केन्द्र सरकार का अस्पताल

          बाबा खड़क सिंह मार्ग, गुरूद्वारा बंगला साहिब के निकट

          क्नॉट प्लेस, नई दिल्ली - 110001

 

डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहले विलिंगडन अस्पताल के नाम से जाना जाता था, इसकी स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए की गई थी तब यहाँ केवल 54 बिस्तर थे । स्वतंत्रता के पश्चात् इसका नियंत्रण नई दिल्ली नगर पालिका समिति को अन्तरित किया गया । 1954 में इसका नियंत्रण पुनः स्वतंत्र भारत की केन्द्र सरकार को अन्तरित कर दिया गया । 

तत्पश्चात इस अस्पताल का निरन्तर विकास होता गया । वर्तमान समय में 30 एकड़ भूमि में फेले इस अस्पताल में 1216 विस्तर हैं । यह नई दिल्ली एवं केन्द्रीय दिल्ली की जनता के अतिरिक्त अन्य क्षेत्रों तथा दिल्ली के बाहर से आने वाले रोगियों  को भी उपचार संबंधी सेवाएँ उपलब्ध कराता है । इसके उपचर्या गृह में के.स.स्वा.यो.के लाभार्थियों के लिए 71 बिस्तर हैं जिसमें मातृत्व उपचर्यागृह भी शामिल है । 

यह पूर्णतया भारत सरकार द्वारा (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण परिवार मंत्रालय) द्वारा वित्त पोषित है । इस अस्पताल के आपातकालीन विभाग में आने वाले किसी भी रोगी के उपचार के लिए इन्कार नहीं किया जाता । 

यहाँ एक नॉन-इन्वेसिव  हृदयरोग प्रयोगशाला एवं हृदयकैथ प्रयोगशाला है, जिसमें टीएमटी, ईको-कार्डियोग्राफी, कोरोनरी एंजियोग्राफी एवं पेस मेकर आरोप की सुविधा उपलब्ध है । हृद वक्ष वाहिका शल्यचिकित्सा, तंत्रिका शल्यचिकित्सा की सुविधाएं इस अस्पताल में उपलब्ध हैं ।
        
इस  अस्पताल में कायचिकित्सा, शल्यचिकित्सा, अस्थिरोग एवं बालरोग संबंधी आपातकालीन सेवाएँ 24 घन्टे उपलब्ध होती हैं । अन्य विशेषज्ञता संबंधी सेवाएं भी संबंधित विशेषज्ञ को बुलाए जाने पर उपलब्ध करवाई जाती हैं । प्रयोगशाला, एक्स-रे, सी.टी.स्कैन, अल्ट्रासाऊंड ब्लड-बैंक एवं एम्बुलेंस जैसी सभी सहायक सेवाएं 24 घन्टे उपलब्ध रहती हैं । गम्भीर हृदय रोगियों एवं गैर-हृद रोगियों के लिए इस अस्पताल में एक हृद-देखभाल एकक एवं गहन देखभाल एकक उपलब्ध है । अस्पताल में आपदा क्रियान्वयन योजना लागू की गई है । जिसके अन्तर्गत यहाँ आपदा विस्तर उपलब्ध हैं जिन्हें वड़ी संख्या में हताहत रोगियों के लिए अथवा आपदा के समय प्रयोग में लाया जाता है ।

इस अस्पताल द्वारा एक वर्ष में लगभग 18 लाख रोगियों को बहिरंग रोगी विभाग में, अस्पताल में भर्ती लगभग 67,000 रोगियों को और आपातकालीन  विभाग में आनेवाले लगभग 3 लाख रोगियों को सेवाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं । लगभग 10,000 पीत ज्वर टीकाकरण एवं 915 प्रसव मामले किए जाते हैं । इसी प्रकार लगभग 5,000 सी.टी.स्कैन, 1.70 लाख एक्स-रे, 28 लाख प्रयोगशाला संबंधी जाँचें एवं लगभग 17,000 अल्ट्रासाऊंड किए जाते हैं । इस अस्पताल में प्रतिवर्ष लगभग 9,000 वृहद वं 40,000 लघु शल्यक्रियाएँ की जाती हैं ।

सुदृढ़ कचरा निपटान प्रणाली के लिए अस्पताल में दो इंसिनरेटर एक माइक्रोवेव मशीन एवं दो प्लास्टिक श्रेडर उपलब्ध हैं ।

अस्पताल में चिकित्सा सुविधाओं के विकास एवं विस्तार हेतु अस्पताल प्रशासन स्थापित है जिसकी संख्या बढ़कर 3164 हो गई है । प्रशासनिक स्थापना के विस्तारण से प्रशासनिक कार्य भी बढ़ा है । केन्द्रीय स्वास्थ्य सेवा और गैर केन्द्रीय स्वास्थ्य सेवा के स्वीकृत पदों की संख्या, वर्ग ‘क’ वर्ग ‘ख’ राजपत्रित एवं अराजपत्रित, मिनिस्ट्रियल स्टाफ, उपचर्या स्टाफ, पैरामैडिकल स्टाफ एवं वर्ग ‘घ’ कर्मचारी वर्ग का संशोधन पूर्व एवं संशोधित वेतनमान सहित विवरण अनुलग्नकों में संलग्न है ।



Back
Government of India
आगंतुक संख्या : 1322467